शरद पूर्णिमा

बंसी उन्ही को सुनाई देगी, जिन्हें ख़ास संदेसा भेजा जायेगा, और उन्ही को पिलाया जायेगा...

Sharad Poornima

दिव्य ध्यान की रात

Tips

त्राटक करें

नेत्रज्‍योति बढ़ाने के लिये दशहरे से शरदपूर्णिमा तक प्रतिदिन रात्रि में 15 से 20 मिनट तक चंद्रमा के आगे त्राटक (पलकें झपकाये बिना एकटक देखना) करें ।

Do Tratak

 

  1. Do Tratak on moon for 15-20 mins. in night from Dussehera to Sharad poornima.
  2. To look with a constant gaze without blinking the eye lids, is called Tratak.

 

शरद पूर्णिमा विशेष

चावल, दूध और मिश्री की खीर बनायें । खीर बनाते समय उसमें कुछ समय के लिए थोड़ा सोना या चाँदी मिला दें । खीर को कम से कम 2 घंटे के लिए चन्द्रमा के प्रकाश में रख दें । उस दिन के लिए कोई अन्य भोजन नहीं पकाएं, केवल खीर खाएं । हमें देर रात को भारी आहार नहीं लेना चाहिए इसलिए तदनुसार खीर खाएं । शरद पूनम की रात में रखी गयी खीर को पूज्य गुरुदेव को भोग लगाने के बाद अगले दिन प्रसाद रूप में नाश्ते में भी ले सकते है ।

On Sharad Poonam

Make kheer of Rice, Milk, Mishri, Put some gold or silver for sometime while making Kheer then place it in Moonlight for atleast 2 hours. Don't cook any other food for that day, only eat Kheer. We should not take heavy diet in late night, hence eat Kheer accordingly. The Kheer which is placed in Sharad Poonam night can also be taken in next day break-fast after making it as Prasad by offering it to Pujya Gurudev.

नेत्र सुरक्षा के लिए शरद पूर्णिमा का प्रयोग

वर्षभर आंखें स्वस्थ रहे, इसके लिए शरद पूनम की रात को चन्द्रमा की चांदनी में एक सुई में धागा पिरोने का प्रयास करें । कोई अन्य प्रकाश नहीं होना चाहिए ।

To free from Eye troubles

For Eyes to work properly whole year, try to put thread in a needle in Sharad Poonam Moonlight. (No other light should be nearby).

शरद पूर्णिमा पर अध्यात्मिक उन्नति

शरद पूनम रात आध्यात्मिक उत्थान के लिए बहुत फायदेमंद है । इसलिए सबको इस रात को जागरण करना चाहिए अर्थात जहाँ तक संभव हो सोना नही चाहिए और इस पवित्र रात्रि में जप, ध्यान, कीर्तन करना चाहिए ।

Do Jaagran

Sharad Poonam Night is very beneficial for spiritual upliftment, hence one should do Jaagran on this night, i.e. as possible don't sleep and do Japa Dhyan Kirtan on this holy night.

दमा के मरीजों के लिए

पूज्य बापूजी के आशीर्वाद रूप में तैयार बूटी पूज्य बापूजी के लगभग सभी आश्रमों में शरद पूनम की रात को खीर में मिलाकर उपलब्ध कराई जाती है कृपया अपने बूटी की उपलब्धता के लिए अपने निकटतम आश्रम में संपर्क करें ।

For Asthma Patients

Pujya Bapuji have showered his blessings to make available the booti which is mixed with Kheer on Sharad Poonam Night in almost all ashrams of Pujya Bapuji-Please ask your nearest ashram for available booti.

Articles

Audios

Videos