सभी आश्रमों में कोरोना वायरस से बचाव के लिए निम्नलिखित सावधानियां बरतें।  

 1) सभी आश्रमों में साफ़ – सफाई का विशेष ध्यान रखें।
 2) मुख्यद्वार पर सेनिटाइज़र (हैण्डवाश) द्वारा हाथ धोने की सुविधा रखें । फिटकरी के पानी से भी हाथ धो सकते हैं ।
 3) आश्रम की व्यासपीठ व बड़दादा पर गौ-झरण फिनाईल से पोछा बार-बार लगाते रहें ।
 4) आश्रमों में नये लोगों को अनुष्ठान आदि के लिए फिलहाल न आने दिया जाए।
 5) मुख्यद्वार पर कोरोना से बचाव के उपाय का बोर्ड लगायें ।
 6) मुख्यद्वार पर चौकी बढ़ाई जाए, सतर्कता से पालन हो ।
 7) अनजान, नए लोगों को आश्रम में प्रवेश न दें । बाहर से आने वाली गाड़ियों की पार्किग आश्रम के बाहर ही रखें ।
 8) कमरे में गौचंदन धूप अथवा गोबर के कंडे जलाकर धूप करें।
 9) पूरे आश्रम में गोबर के कंडे 60% और 40%  धूप मिलाकर धुआं करें अथवा नीम के पत्तों का धुंआ करें।
 10) स्नानघर और शौचालय में सफाई प्रतिदिन अच्छे से होनी चाहिए।
 11) कचरा पेटी भी दिन में एक बार साफ हो और 3-4 दिन में कचरा पेटी को फिनाइल से अवश्य धो लें।
 12) सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार आदि से बचें । गिलोय, नीम, तुलसी, अदरक का काढ़ा सभी आश्रमवालों को पिलायें।
 13) खुले में बिल्कुल न थूंके।
 14) उचित लगे तो सुबह तुलसी व नीम के पत्ते आवश्यकता अनुसार लें। 
 15) सुबह गोझरण भी ले सकते हैं।
 16) आश्रमवासी बिनजरुरी आश्रम से बाहर  न जाएँ । अगर जाना जरुरी हो तो मास्क का उपयोग करें।
 17) आश्रमवासी किसी भी बाहरी व्यक्तियों से हिलने-मिलने से बचें।

Note : ये मैसेज सिर्फ आश्रमों के लिए है।

 
---------------

 हरि ॐ

 कोरोना वायरस से बचाव हेतु, सभी साधकों एवं आश्रमों को निर्देश...

 विश्वभर में फैल रहे कोरोना वायरस को वैश्विक महामारी घोषित किया गया है । संत श्री आशारामजी आश्रम, अहमदाबाद की तरफ से सभी आश्रमों, साधकों, भक्तों व श्रद्धालुओं से विनम्र निवेदन है कि सरकार द्वारा इसके रोकथाम के लिए दिए गये निर्देशानुसार कहीं भी ज्यादा लोगों की भीड़ इकट्ठी नहीं होनी चाहिये ।

 अत: श्रध्दालु भक्तों से प्रार्थना है कि 31 मार्च, 2020 तक आश्रम आने की बजाय घर में ही जप-ध्यान करें । आश्रमों के सभी संचालकों को भी निर्देश है कि 31 मार्च तक नये आगंतुक लोगों को आश्रम में प्रवेश न दें ।

 वर्तमान परिस्तिथियों को देखते हुए आश्रमवासी भी, बिना कारण अनावश्यक यात्राएँ न करें । जो जहाँ पर है, वो वहीं पर सेवा-साधना करें ।

 देशभर में चल रही सेवा प्रवृत्तियाँ (संकीर्तन यात्राएँ, आम सत्संग कार्यक्रम, गरीबों में भंडारे, समितियों, बाल संस्कार, युवा सेवा संघ, महिला मंडल आदि द्वारा शिविर अथवा सम्मेलन आदि, घर-घर ऋषि प्रसाद अभियान आदि अन्य सभी सेवाकार्य) भी फ़िलहाल 31 मार्च तक स्थगित रखें । जब तक  अहमदाबाद आश्रम से आगामी निर्देश नहीं आता, तब तक उपरोक्त सेवाकार्य स्थगित किये जायें।

 इस महामारी से भयभीत व इससे जुड़ी अफवाहों से भ्रमित न हों, लेकिन सावधानी रखना जरुरी है और सरकार को सहयोग करना अत्यंत आवश्यक है, इसलिए यह सूचना जारी की जा रही है ।

 रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के लिए गिलोय, तुलसी, आंवला, अदरक, हल्दी, गौ-मूत्र आदि का पान यथायोग्य करें ।

 गौचन्दन धूपबत्ती जलायें व जप-ध्यान और योगासन करें ।

 खाने में टमाटर, फ्लावर (फूलगोभी), अजवायन व नारंगी (संतरा) रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाते हैं, उनका उपयोग करें एवं परिस्तिथियों को देखते हुए लहसुन का भी उपयोग कर सकते हैं ।


 आश्रम के ऑफिशियल Telegram चैनल से जुड़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें ।
https://t.me/AsharamJiBapu

 आश्रम के Whatsapp नंबर से जुड़ने के लिए https://wa.me/919978782229 पर मैसेज करें ।

 वेबसाइट : http://www.ashram.org/Ashram/Official-Message

संपर्क : 079 61210888

संत श्री आशारामजी आश्रम, अहमदाबाद

 

Videos

Downloads for Seva