चन्द्रग्रहण

ग्रहण के समय जप -ध्यान विशेष फलदायी होते हैं

पूज्यश्री का पावन संदेश
 

 तीन ग्रहण आ रहे है। दो चंद्रग्रहण व एक सूर्यग्रहण। इसलिये धरती पर भयंकर उत्पात होने की संभावना है। इस समय जप में लग जायें सब। 5 जून (चंद्रग्रहण), 21 जून (सूर्यग्रहण) और 5 जुलाई (चंद्रग्रहण)। भाइयों के आश्रम व महिला आश्रम में खबर कर देना। एक महीने में तीन ग्रहण होना भारी खतरा है।

 पिछला चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण कोरोना देकर गया। यह (5 जून को आनेवाला) चन्द्रग्रहण इतना भयंकर नही रहेगा। (21 जून को आनेवाला) सूर्यग्रहण तीसरा विश्वयुद्ध ला सकता है।

 नोट : भारत मे केवल 21 जून के सूर्यग्रहण का प्रभाव रहेगा। 5 जून और 5 जुलाई का चंद्रग्रहण भारत में नहीं दिखेगा, उसका प्रभाव विदेश में रहेगा। इसलिए 5 जून और 5 जुलाई को ग्रहण के नियमो का पालन नहीं करना है , पर जप तीनों ग्रहण के दिन करना है। इस संदेश से भयभीत नही होना है जप में लगना है।

 
 

चंद्रग्रहण तिथि – 5 जून 2020, शुक्रवार
सूतक काल – भारत में पालनीय नहीं है , 
ग्रहण काल - रात 11:15 से 02:35 तक

-------------------------------

चंद्रग्रहण तिथि – 5 जुलाई 2020, रविवार 
सूतक काल – भारत में पालनीय नहीं है , 
ग्रहण काल - सुबह 8:37 से 11:23 तक

Audios

Videos