Tithi-Tyouhar

अपने जन्म और कर्म को दिव्य कैसे बनाएँ?


नारायण… नारायण…. नारायण… नारायण… जन्मदिवस बधाई हो.. पृथ्वी सुखदायी हो, जल सुखदायी हो तेज सुखदायी हो, वायु सुखदायी हो जन्मदिवस बधाई हो.. मन सुखदायी हो, मति सुखदायी हो गति सुखदायी हो, स्नेही सुखदायी हो जन्मदिवस बधाई हो..             इस प्रकार जन्मदिवस जो लोग मनाते हैं, मनवाते हैं, बहुत अच्छा है, ठीक है लेकिन उससे थोड़ा …

Read More ..

Join The Movement – Parents Worship Day on 14th FEB


मातृ पितृ पूजन दिवस – 14 फरवरी ये कौन सा कल्चर है ? ये कौन सा धर्म है ? क्या यही प्रेम दिवस है ? साढ़े बारह लाख कन्याएँ स्कूल जाते-जाते प्रेगनेन्ट हो जातीं हैं | कितनी बदकिस्मती है उन देशों की | उसमें पाँच लाख कुछ हजार कन्याएँ एबॉर्शन करा लेती हैं | और …

Read More ..

स्यमन्तक मणि कथा


छप्पनवाँ अध्याय स्यमन्तक मणि कथा,जाम्बवती और सत्यभामा के साथ श्रीकृष्ण का विवाह श्री शुकदेव जी कहते हैं- परीक्षित ! सत्राजित ने श्रीकृष्ण को झूठा कलंक लगाया था। फिर उस अपराध का मार्जन करने के लिए उसने स्वयं स्यमन्तक मणि सहित अपनी कन्या सत्याभामा भगवान श्रीकृष्ण को सौंप दी। राजा परीक्षित ने पूछाः भगवन् ! सत्राजित ने भगवान श्रीकृष्ण का क्या अपराध …

Read More ..